केन्द्रीय तिब्बती स्कूल, डलहौजी

केन्द्रीय तिब्बती स्कूल डल्होजी, मई 1963 में स्थापित किया गया यह विद्यालय भारत में सबसे पहले स्थापित तिब्बती स्कूलों में एक है जिसका प्रबन्धन, केन्द्रीय तिब्बती स्कूल प्रशासन द्वारा किया जाता है। केन्द्रीय तिब्बती स्कूल प्रशासन 1961 में भारत सरकार के मानव संसाधन विकास मन्त्रालय द्वारा स्थापित किया गया एक स्वायत्र संस्थान है जिसका उद्धेष्य भारत में रहने वाले तिब्बती बच्चों की शिक्षा हेतु किया गया है।

आज केन्द्रीय तिब्बती स्कूल प्रशासन भारत में 71 स्कूल चला रहा है जिसमें केन्द्रीय तिब्बती विद्यालय, चम्बा एक अग्रणी स्कूल है।

1963 से आज तक सैकडों विद्यार्थीयों ने स्कूल से दीक्षा प्राप्त की और हमें गर्व है कि बहुत से पूर्व विद्यार्थी आज तिब्बती समुदाय में सम्मानित पदों पर आसीन हैं, केन्द्रीय तिब्बती विद्यालय चम्बा में स्कूल और छात्रावास करीब 11 एकड़ के विषाल भूखण्ड पर स्थित है और छात्रों हेतु बड़े क्रिड़ा स्थल इसमें सम्मिलित हैं।

स्कूल के 7 सदस्यों को श्रेष्ठ सेल हेतु शिक्षा विभाग, धर्मशाला द्वारा सम्मानित किया गया है।



केन्द्रीय तिब्बती विद्यालय डलहौजी के भव्य 50 वर्ष

केन्द्रीय तिब्बती विद्यालय डलहौजी के 50 वर्ष हाने के अवसर पर भव्य स्वर्ण जंयती समारोह 27 से 30 अप्रैल 2013 को आयोजित किया गया थां इस आयोजन में परम पावन दलाई लामा मुख्य अतिथि थे। उन्हानें इस अवसर पर प्रकाषित पत्रिका का अनावरण किया।

इस अवसर पर परम पावन दलाईलामा को स्मृति चिन्ह भी भेंट किए गयें

समारोह में छात्रों द्वारा नृत्य ओर गीत का कार्यक्रम हुआ तिब्बती कला संस्थान के सदस्यों ने बहुत सुन्दर और कलात्मक प्रदर्षन किया।

समारोह में भारी जनमानस थें जिन्होंने इस यादगार समारोह का भरपूर आंनन्द लिया।

प्रधानाचार्य श्री पी.के. सिंह ने छात्रों, स्टाफ सदस्यों, स्वर्ण जयंती समिति के सदस्यों और महामहिम का धन्यवाद किया। समारोह के अंत में छात्रों की मुलाकात और वार्तालाप परमपावन दलाई लामा से हुई।

अधिक तस्वीरें देखने के लिए क्लिक करें



उदेश्य :

केन्द्रीय तिब्बती स्कूल प्रशासन का उद्वेष्य विद्यार्थियों को उच्च गुणवत्ता और श्रेष्ठ शिक्षा उपलब्ध करना तथा शिक्षकों द्वारा सामाजिक राष्ट्रीय और अन्तराष्ट्रीय स्तर की अपेक्षाओ को परिपूर्ण करना है।

अधिक पढ़ने के लिए क्लिक करें